Yoga Vidya International

Community on Yoga, Meditation, Ayurveda and Spirituality

अंदरूनी गरमी को कैसे दूर करें? (HOW TO GET RID OF EXCESSIVE INTERNAL HEAT?)

अब गरमी आ रही है। गर्मियों में रोजाना सुबह उठते ही बिना कुछ ओर चीज़ खाए सबसे पहले एक गिलास लस्सी (250 या 300 ग्राम) पीजिए लगातार 2-3 महीने। इस तरह लस्सी पीने से शरीर की अंदरूनी गरमी खत्म हो जाती है। अंदरूनी गरमी से प्रायः खूनी बवासीर (piles) जैसे गंभीर रोग उत्पन्न हो जाते हैं।
लस्सी में पीसा हुआ जीरा व एक चुंटी (a pint of) काला पिसा हुआ नमक जरूर डालें। सबसे खास बात- भूखा कभी भी नहीं रहें। भूखा रहने से या भूखा होने के बावजूद भोजन न करने से भी शरीर में अंदरूनी गरमी हो जाती है। अंदरूनी गरमी की वज़ह से मुंह वगैरह पर फोडे फुंसी होते रहते हैं और कई दफा दस्त भी लग जाते हैं।
लस्सी पीने के एक-दो घंटों के बाद आधा-एक ताजा पतली मूली खाएं जिससे आंतों की गरमी मिटती है।
दोपहर के बाद मूली न खाएं क्योंकि ऐसा करने से पेट में अफारा/वायु (gas) बन जाता है जो भूख को कम कर देता है।
दिनभर 2-3 लिटर पानी अवश्य पिएँ। ऐसा करने से शरीर की अंदरूनी गरमी मिटती है।

चाय काॅफी जैसी गरम चीज़ पीना बंद करें। विशेषकर बवासीर के रोगी तो लाल मिर्च और अन्य गरम मसालों का सेवन बिल्कल ही बंद कर दें।
सुबह-शाम भोजन करने के आधा घंटे बाद बेल के मुरब्बा की एक फांक (एक टुकडा - 20-30 ग्राम) जरूर खाइये. इस से आंतें (intestines) चिकनी और स्वस्थ बनी रहती हैं, आंतों के घाव भर जाते हैं, कब्ज भी नहीं होती है तथा मल भी आसानी से बिना आंतों से घर्षण किए ही मलद्वार से बाहर निकल जाता है जिससे मससों पर भी जोर नहीं पडता है और  मल (stool/faeces) से भी दुर्गध समाप्त हो जाती है। मधुमेह (diabetes) के रोगी बेल का मुरब्बा न खाएं।
- Dr Swaamee Aprtemaanandaa Jee

( Dr Swaamee Aprtemaanandaa Jee's Yoga-Secrets-Revealed Series - 65)

Views: 17

Tags: Aprtemaanandaa, Bel, Care, Dr, Jee's, Lassi, Piles, Series, Summer, Swaamee, More…Yoga-Secrets-Revealed, body, butter-milk, diabetes, excessive, healthy, heat, internal, kaa, life, murabba

Comment

You need to be a member of Yoga Vidya International to add comments!

Join Yoga Vidya International

© 2020   Yoga Vidya | Contact | Privacy Policy |   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service